Mayawati BSP

0
 [su_button url=”https://newsratingpoint.com/mayawati-2/” target=”blank” background=”#0f9aee” color=”#000000″ size=”4″ center=”yes” icon_color=”#ffffff” text_shadow=”0px 0px 0px #fdfcfc”]Profile[/su_button]
HIT *** (News Rating Point) 27.02.2016
बसपा सुप्रीमो मायावती रोहित वेमूला आत्महत्या मामले को राज्यसभा में आक्रामक तरीके से उठाने की वजह से चर्चा में रहीं. राज्यसभा में स्मृति ईरानी से उनकी तकरार भी चर्चा में रही. सोशल मीडिया पर भी इस पर खूब डिस्कशन हुआ. दरअसल उन्होंने सीधे-सीधे सरकार पर आरोप लगाया कि वह RSS की विचारधारा हैदराबाद यूनिवर्सिटी, जेएनयू जैसे बड़े संस्थानों पर भी थोपना चाहती है. मांग कि जो न्यायिक समिति रोहित वेमूला मामले की जांच कर रही है उसमें एक दलित को भी शामिल किया जाए. इस बीच बसपा सुप्रीमो मायावती लगातार सरकार पर हमले बोलती रहीं. राज्यसभा सभापति के लगातार रोकने पर भी मायावती चुप नहीं हुईं और बसपा सांसद वेल में आकर हंगामा करते रहे. बसपा के आक्रामक रुख के कारण उस दिन राज्यसभा में कार्यवाही नहीं चल पा रही थी. मायावती ने सदन में कहा, संघ विचारधारा थोपने और लगातार उत्पीड़न के कारण हैदराबाद यूनिवर्सिटी के दलित छात्र ने आत्महत्या की. उन्होंने ये भी कहा, जब यूपीए की सरकार थी तब भी हैदराबाद यूनिवर्सिटी में दलित छात्रों का उत्पीड़न होता रहा है. जब किसी ने दलित छात्र की मदद नहीं की तो दलित छात्रों ने बाबा साहेब अंबेडकर के नाम से अलग संगठन बनाया. लेकिन दुख की बात ये है कि वहां RSS से जुड़े छात्र हैं वे लगातार उनको परेशान करते रहे. राज्यसभा सभापति ने जब इस मामले पर फौरन चर्चा की मंजूरी दे दी, उसके बाद भी मायावती चुप नहीं हुईं. इसके बाद बुधवार को बसपा सदस्ययों ने दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के मुद्दे और इससे कथित रूप से संबंधित केंद्रीय मंत्रियों के इस्तीफे की मांग करते हुए हंगामा किया, जिससे सदन की कार्यवाही को चार बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया. बैठक शुरू होते ही बसपा प्रमुख मायावती ने रोहित का मुद्दा उठाते हुए सरकार से जवाब की मांग की. राज्यसभा में स्मृति ईरानी ने मायावती को जवाब दिया कि अगर मायावती मेरे उत्तर से संतुष्ट नहीं है, तो सिर कलम करके ले जाने की हिम्मत है तो ले जाएं. बसपा के सदस्य सरकार के रूख से संतुष्ट नहीं हुए और वे आसन के समक्ष नारेबाजी करने लगे. बसपा सदस्यों ने केंद्र सरकार, भाजपा और आरएसएस के खिलाफ नारेबाजी की. लेकिन मामला यहीं नहीं ख़त्म हुआ. शुक्रवार को राज्यसभा में बसपा प्रमुख मायावती और शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी के बीच फिर तीखी झड़प हुईं. मायावती ने स्मृति को घेरते हुए कहा, ‘मैं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के जवाब से संतुष्ट नहीं हूं, अब क्या आप अपना वादा निभाएंगी?’ इस पर स्मृति ने उन्हें जवाब देते हुए कहा कि मैंने तो आपके कार्यकर्ताओं से कहा था कि आएं और सिर काट कर ले जाएं.’ राज्यसभा में मायावती ने कहा कि रोहित मामले पर सरकार चुप्पी साधे हुए है. इस केस में गठित कमेटी में एक भी दलित शामिल नहीं है. मैं आपके जवाब से संतुष्ट नहीं हूं. क्या अब आप सिर कलम करने का अपना वादा निभाएंगी? मायावती ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा कि आरएसएस के कट्टर समर्थक इसके पीछे बताए जा रहे हैं. मायावती  ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज जो जांच कमेटी में इकलौते सदस्य हैं, वो दलित जाति के नहीं हैं. एक से ज्यादा भी अधिकारी कमेटी में रखे जा सकते थे, इससे सरकार की दलित विरोधी नीति साफ तौर पर नज़र आती है. मायावती ने कहा कि मंत्री जी ने कहा था कि अगर मैं संतुष्ट नहीं हुई तो सिर काट के दे दूंगी, तो क्या अब वो अपने वादा पूरा करेंगी.

(अखबारों, चैनलों और अन्य स्रोतों के आधार पर)

[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=MEkC7u01sn8″ width=”400″ height=”300″]
[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=g_XfhwnwGBI” width=”400″ height=”300″]
[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=_LeN2gxaLts” width=”400″ height=”300″]
[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=J2jdExaHgQk” width=”400″ height=”300″]
[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=rsFfIsYr0-w” width=”400″ height=”300″]
[su_youtube url=”https://www.youtube.com/watch?v=B3ctIZjvxBY” width=”400″ height=”300″]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here